Latest Posts

3 लाख कमाए एग्जीबिशशन रिस, 20 साल की सजा कैद कैदी फर्नीचर बनाने में उस्ताद | फर्नीचर बनाने में मास्टर है शिमला जेल का कैदी, प्रदर्शनी लगाकर कमाए 3 लाख

[Nurpur Hindi News ]

निष्क्रिय29 मिनट पहले

कहते हैं कि कला किसी पहचान की मोहताज नहीं होती। हुनर अपना रास्ता तलाशता है। इस बात को सच में दिखाया गया है मीडिया की कंडा जेल में एनडीपीएस एक्ट के तहत 20 साल की सजा काट रहे गोरखपुर के राज ने। 33 साल के राज ने जेल में ही अपनी कलाकारी से सभी को हैरत में डाल दिया।

गेटी थिएटर में लगी कंडा जेल में कैद की 4 दिन की एग्जिबिशन में राज ने अपने हुनर ​​से 3 लाख कमाए। उनके पास एडवांस ऑर्डर भी आ गए हैं। राज ने 70 हजार का राइटिंग सेट, 45 हजार की डायनिंग टेबल, 27 हजार की 3 रैकिंग चेयर, 10 हजार की 5 बुक रैक पर रोक। इसके अलावा कुर्सी-स्टूल बेचकर 3 लाख कमाए।

फर्नीचर बनाने की अग्रिम बुकिंग
बता दें कि राज के पास इतनी एडवांस बुकिंग आई हैं कि उनकी 2023 की इन चीजों को बनाने में कटौती की जाएगी। इसमें 6 डबल बैड, 4 ब्रोकर सेट, 4 डायनिंग टेबल, 6 बुक रैक और बेडशीट चेयर के ऑर्डर आए हैं।

2016 से जेल में राज बंद है
राज का कहना है कि वह साल 2016 से जेल में बंद है। सारा डे के काम के आँकड़े देखे जाते हैं। रात को घर की याद आती है तो नींद कम हो जाती है। उसके 2 बच्चे हैं, जिनको याद करके वह बार-बार भावुक हो जाते हैं। हालांकि परिवार से मिलने के लिए साल में एक बार घर मिल जाता है, लेकिन परिवार से दूर रहने का मलाल अंदर ही अंदर कचोटा।

राज ने कहा कि हफ्ते में एक दफा फोन पर घर से बात करते हैं। बाकी सारा वक्त आपके काम में आते हैं। बता दें कि कोर्ट ने चेरस के तस्कर मामले में राज को 20 साल की सजा सुनाई है। इन सभी को भूलने के लिए खुद को सारा दिन काम में रखते हैं। कभी-कभी शिकायत करने पर यह भी याद नहीं रहता कि वह जेल में हैं।

खबरें और भी हैं…

[Nurpur Hindi News ]

Latest Himachal News – Nurpur News

Leave a Reply

Pin It on Pinterest