Latest Posts

वन विभाग की जमीन पर बनाई गई 2 मंजिला इमारत, डीएफओ स्थलों पर पहुंचे; कार्रवाई शुरू | कुल्लू-मनाली का दोहलूनाला टोल प्लाजा फिर विवादों में हिमाचल

[Nurpur Hindi News ]

पटलिकुहल कुल्लू15 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
24 मीटर से अधिक जमीन की पेमाइश करते हैं कर्मचारी।  - दैनिक भास्कर

24 मीटर से अधिक जमीन की पेमाइश करते हैं कर्मचारी।

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू-मनाली के मध्य डोहलूनाला में एक टोल प्लाजा का निर्माण किया गया और एक विवाद हुआ। दरअसल वन विभाग को शिकायत मिली है कि इस टोल बैरियर को राष्ट्रीय राजमार्ग की 24 मीटर भूमि के कार्यक्षेत्र के कार्यक्षेत्र में वन विभाग की भूमि पर बनाया गया है।

इसलिए ही नहीं टैक्स के लिए सड़क के किनारे बनाई गई 2 मंजिला इमारत को भी अवैध तरीके से वन भूमि पर जबरन कब्जा बनाया गया बताया जा रहा है।

स्थायी करने के लिए वन विभाग के डीएफओ डोहलूनाला टोल बैरियर पहुंचे। उन्होंने अपने स्तर के संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ वन्यजीवों का मुआयना कर 24 मीटर पर निशानदेही के निशान लगावाए। जिसका सही पता लगाने के लिए रेवेन्यू विभाग को पत्र प्रेषित किया जा रहा है।

वन विभाग की टीम ने पैमाइश के बाद दिए गए निशानों द्वारा काम किया।

वन विभाग की टीम ने पैमाइश के बाद दिए गए निशानों द्वारा काम किया।

पहली नजर में अवैध निर्माण, रेवेन्यू डिपार्टमेंट फाइनल रिपोर्ट
कुल्लू में डीएफओ अंजल चौहान का कहना है कि अवैध कब्जे का निर्माण करने के लिए वे डोहलूनाला पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि देखने से पता चलता है कि टोल प्लाजा 24 मीटर से काफी ज्यादा विशिष्ट हो रहा है। टोल प्लाजा का कार्यालय भी एनएचएआई के वन विभाग की भूमि पर लग रहा है। लक्षिता सही निष्कर्ष तक पहुंचने को एक सप्ताह के अंदर रेवेन्यू विभाग को निशानदेही करने के लिए कहा गया है।

डोहलूनाला में टोल प्लाजा का निर्माण कर अवैध निर्माण की शिकायत पर डीएफओ कुल्लू ने अतिक्रमण किया।

डोहलूनाला में टोल प्लाजा का निर्माण कर अवैध निर्माण की शिकायत पर डीएफओ कुल्लू ने अतिक्रमण किया।

टोल प्लाजा का विरोध, रिजेक्शन मार्ग पर विचार
वहीं टोल प्लाजा संघर्ष समिति के सदस्य एवं जिला परिषद के उपाध्यक्ष बीर सिंह ठाकुर का कहना है कि टोल प्लाजा के मामलों की सुनवाई के दौरान NHAI की ओर से कोई शामिल नहीं हुआ। इससे पता चलता है कि NHAI के लोगों के विरोध को लेकर संजीदा नहीं है।

ऐसे में अब जनता के सब्र का बांध टूटता जा रहा है। फंसे वे आने वाले समय में टोल प्लाजा के बाहर से रिजेक्शन के रास्ते के निर्माण पर भी विचार कर रहे हैं, ताकि स्थानीय लोगों को टोल से राहत मिल सके।

खबरें और भी हैं…

[Nurpur Hindi News ]

Latest Himachal News – Nurpur News

Leave a Reply

Pin It on Pinterest