Latest Posts

ठिठुरन मिली, किसान खुश, निराश के लिए लाभ; आज रात फिर से क्लाउडलाइट की संभावना | सोलन मौसम: बारिश से किसानों में खुशी, लोगों के लिए अलर्ट

[Nurpur Hindi News ]

सोलन20 मिनट पहले

सोलन जिले में 57 दिनों के बाद बारिश हुई है। इससे ठंड बढ़ गई है। सुबह का तापमान 3 से 5 डिग्री के बीच चल रहा है। कृषि उपज के अनुसार यह बरसात के लिए बड़ा लाभ है। हालांकि लंबे समय से चली आ रही बारिश को तोड़ने के लिए बारिश पर्याप्त नहीं है। आज रात को फिर बारिश होने की संभावना है। जमीन में होने पर किसान सफल हुए भूमि पर रबी की सफलता की बुआई कर देंगे।

जिले में लंबा सूखा चल रहा था

विक्षोभ के सक्रिय होने से 8 जनवरी को रोशनी बारिश का पूर्वानुमान था, लेकिन फिर भी बारिश नहीं हुई। 12 जनवरी को भी अनुमान के बाद दिन में धूप खिली रही तो किसानों की चिंता बढ़ने लगी। देर रात बारिश हुई और सुबह करीब 5 बजे फिर कुछ देर के लिए बारिश हुई। जिले में बारिश न होने के कारण सूखा पड़ रहा है। खेतों में बिजी हुई साझेदारी को बारिश की जरूरत है।

सभी संगत के लिए वर्षा वर्जित

नौणी विश्वविद्यालय के पर्यावरण विज्ञान विभाग की एडवाइजरी के अनुसार लोहड़ी पर रोशनी से मध्यम बारिश होने का अनुमान है। इससे ड्राई स्पेल टूटने की उम्मीद है। विभाग के एचओडी डॉ. एसके भारद्वाज ने कहा कि बारिश बिजी हुई सभी नाराजगी के लिए लाथदायक है। किसानों के मौसम के अनुसार क्षेत्रों में काम का संबंध का संचालन करें।

30 प्रतिशत अभी खाली भी

जिले के किसान केवल सिंचित क्षेत्रों में ही रब्बी जुड़ाव की बुवाई किसान कर पाते हैं। जिला सोलन में कितनी मुख्य रबी फसल है यहां करीब 25,400 हेक्टेयर में रबी अर्पण की खेती की जाती है, जिसमें से 21,300 हेक्टेयर क्षेत्र में गेहूं की ही फसल बोई जाती है। इसमें से 30 प्रतिशत भूमि पर सफलता की बुआई नहीं हो पाई है।

खबरें और भी हैं…

[Nurpur Hindi News ]

Latest Himachal News – Nurpur News

Leave a Reply

Pin It on Pinterest