Latest Posts

जीवन में सफलता के लिए दिया पढ़ोगे तो बढ़ोगे’ का मूल मंत्र | Governor took class of children today For success in life, if you read the lamp, then the basic mantra of ‘Growth’


शिमला3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर शिमला स्कूल में बच्चों की क्लास लेते हुए । - Dainik Bhaskar

राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर शिमला स्कूल में बच्चों की क्लास लेते हुए ।

हिमाचल में एक ओर जहां चुनावी माहौल गर्माया हुआ है वहीं प्रदेश के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने शिमला के स्कूल में जा कर बच्चों की क्लास ली। राज्यापाल आज छोटा शिमला के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में गए। सबसे पहले तो उन्होंने स्कूल की व्यवस्था को देखा इसके बाद वह बच्चों की क्लास में गए और टीचर की तरह उन्हें पढ़ाने लगे।

राज्यपाल को यूं अचानक अपनी क्लास में आता देख बच्चों की हैरानी का कोई ठिकाना नहीं रहा। बाद में बच्चें भी उनके साथ काफी सहज और गए और राज्यपाल भी उनके रंग के रंग गए। राज्यपाल से सबसे पहले बच्चों को दीवाली की शुभकामनाएं दी और बाद में उन्हें पढ़ने के लिए किताबे । ऐसा शायद पहला मौका रहा होगा जब कोई राज्यपाल शहर के किसी स्कूल में जा कर टीचर की भूमिका में नजर आए होंगे।

बच्चों से किया संवाद जानी उनकी रुचि

इस दौरान राज्यपाल ने बच्चों से संवाद किया और उनकी रुचि के बारे में बातें की। बच्चों ने भी बढ़ी सहजता से अपनी बात राज्यपाल के समक्ष रखी आपनी रूचि के बारे में उन्हें खुल कर बताया। किसी ने कहा कि वह बढ़े हो कर डॉक्टर बनेंगे, किसी ने कहा इंजीनियर, किसी ने पुलिस तो किसी ने टीचर। सब की बात सुनने के बाद राज्यपाल ने बच्चों को उनके उज्जवल भविष्य की कामना की और उन्हें जीवन में सफल बनने का मूल मंत्र दिया।

‘पढ़ोगे तो बढ़ोगे’

राज्यपाल ने कहा बच्चों को स्कूलों की किताबों के पढ़ने के साथ साथ दूसरी अन्य पुस्तकों को पढ़ने की आदत बढ़ाने की बात कही। उन्होंने कहा कि ‘पढ़ोगे तो बढ़ोगे’। उन्होंने कहा कि पुस्तकें हमारी सच्ची मित्र, मार्गदर्शक हैं, जो हमें सकारात्मक दृष्टिकोण तो देती ही हैं साथ ही जीवन में सफलता का मार्ग प्रशस्त करती हैं।

बाद में, स्कूल द्वारा आयोजित स्वागत समारोह में स्कूल की प्रधानाचार्य मीरा शर्मा ने स्कूल की उपलब्धियों के बारे में उन्हें बताया। राज्यपाल ने टीचर्स से भी छात्रों को पढ़ाने के शौक विकसित करने में सहयोग देने की अपील की। उन्होंने स्कूल के पुस्तकालय को और विकसित करने और अच्छी पुस्तकें पढ़ने के प्रति प्रेरित करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि वे शीघ्र ही स्कूल में विकसित किए गए ‘स्मार्ट क्लास रूम’ का निरीक्षण भी करेंगे।

खबरें और भी हैं…



Latest Himachal News – Nurpur News

Leave a Reply

Pin It on Pinterest